By: Roshan Choudhary | June 20, 2016

मिथिला राज्यक निर्माण लेल विभिन्न तरहे आन्दोलन भ' रहल अछि। जेना धरना प्रदर्शन, सोशल साईट सँ ल' क' मिथिलामें  रथ यात्रा निकलि क' लोगके जागरूक केनाई, कोनो ठाम सेमीनार क' क' , कोनो ठाम ज्ञापन द' क', कोनो ठाम अनशन कए क' मिथिला राज्यक मांग भ' रहल अछि। मिथिला  राज्यक मांग भारतके  अजादी'क समय सँ भ' रहल  अछि अर्थात मिथिला राज्यक मांग बहुत पुरान अछि, सरकार सुतल अछि लेकिन मिथिला लोक (मैथिलि-मिथिलानी) मिथिला राज्य लेल हिंसाक रस्ता नञिं अपनेलक। 

              मैथिल-मिथिलनी अलगाववादी नञिं भ' सकए छथि। बिना कोनो हिंसाक सहारा लेने शांतिपूर्ण संवेधानिक तरीका सँ मिथिला राज्यक मांग केनाई कोनो तरहक अलगाववादी निशानी नञिं छै। मैथिल-मिथिलानी दू देश (भारत-नेपाल) में बाँटल गेला ओहो बातके स्वीकार क' लेने छथि। सीमा पर रहए बाला समुदाय एतेक सहिष्णु छथि जे दू देशमें रहित...

By: Roshan Choudhary | December 01, 2015

बात 15 अगस्त 2005 के अछि  महराजा लक्ष्मेश्वर सिंह महाविद्यालयमें तत्कालीन प्रिंसिपल भाषावाद आ क्षेत्रवाद पर एगो बड़का भाषण देने छलाह , चुकि हम ओही कॉलेजमें वर्ष 2004-2006 में इंटरमीडिएट वाणिज्यके छात्र छलौह ! आ संगे संगे NCC में सेहो छलौह.

ओही दिन त हम अपन प्रधानाचार्यसँ नञिं पुछि सकलौह जे, असली भाषावाद आ क्षेत्रवाद की अछि ?

मुदा आब कनि कनि बुझए लगलौ हन !

उदहारण मिथिलाक अछि 

मिथिलाक क्षेत्रक भाषा मैथिली अछि मुदा बिहार सरकार जबरदस्ती कानून बना कए हिन्दी थोपने अछि ! जाहि मैथिली भाषाके भारत सरकार मान्यता देलक ओही भाषाके बिहार सरकार लग कोनो वैल्यू नहि छै.

सब भाषाके अनेको बोली रहैत अछि, मैथिली भाषा सेहो बड्ड समृद्ध अछि आ एकरो अनेक बोली अछि, मुदा सरकारी स्तर पर मैथिली भाषाके बेर बेर अपमानित कायल जायत अछि.

न्यायलयके आदेशक बाबजूद बिहार सरकार प्राथमिक शिक्...

By: Roshan Choudhary | January 14, 2015

नीति आयोगक वाइस चेयरमैन अरविंद पनगढ़िया जिक ऑफिसमें मिथिला पेंटिंग !
धन्यवाद       Arvind Panagariya   जी !